छठ पूजा व्रत विधि तथा नियम, सूर्य छट्ठी मईया व्रत, surya shasthi vrat katha by Pandit Pradeep Pandey 9871030464

#छठ #पूजा #व्रत #विधि तथा #नियम, #सूर्य #छट्ठी #मईया #व्रत, #surya #shashthi #vrat #katha #katha by Pandit Pradeep Pandey 9871030464
#छठ #पर्व, छठ या #षष्ठी लोक #आस्था के #महापर्व ‘छठ’ का हिंदू #धर्म में अलग #महत्व है। यह एकमात्र ऐसा #पर्व है जिसमें ना केवल #उदयाचल सूर्य कीपूजा की जाती है बल्कि #अस्ताचलगामी सूर्य को भी पूजा जाता है। #कार्तिक शुक्ल पक्ष के षष्ठी को मनाया जाने वाला एक #हिन्दू पर्व है। छठ पूजा की पूजा विधि #त्योहार में #सूर्य भगवान की पूजा होती है. यह #पूजा विधि चार दिनों तक चलती है. #छठ का पहला दिन #नहाय- खाई के नाम से जाना जाता है. इस दिन लोग #नदी में नहाकर #चार दिवसीय व्रत की शुरूआत करते हैं. छठ #व्रत करने वाली महिलाएं इस दिन केवल एक ही टाईम का भोजन करती हैं.
#पूजा के दूसरे दिन खरना व्रत किया जाता है. इस दिन शाम के वक्त #व्रती महिलाएं प्रसाद के रूप में खीर और गुड़ के अलावा फल आदि का सेवन करती हैं. साथ ही अगले 36 घंटे के लिए #निर्जला व्रत रखा जाता है. ऐसी पुरानी #मान्यता है कि #खरना पूजन से #छठ देवी खुश होती हैं और घर में वास करतीं हैं. #पर्व के तीसरे यानी #पंचमी के दिन लोग #डूबते हुए सूर्य को अर्घ्य देते हैं. #छठ पूजा की अहम तिथि #षष्ठी को होती है. इस दिन नदी या जलाशय में उगते #सूर्य को #अर्घ्य देने के साथ ही इस #महापर्व का #समापन होता है.

Advertisements

करवा चौथ पूजा मुहूर्त, सरल विधि तथा करवा चौथ की व्रत कथा,Karva Chauth Puja by Pandit Pradeep Pandey 9871030464

करवा चौथ व्रत की यह है सबसे सही और सरल विधि, #women will get special #aashirwad on this #karwa #chauth • भगवान #शिव और #पार्वती को #बेलपत्र और #श्रृंगार की वस्तुएं अर्पित करें। • #श्रीकृष्ण को #माखन-मिश्री और #पेड़े का भोग लगाएं। • उनके सामने #मोगरा या #चन्दन की #अगरबत्ती और #घी का दीपक जलाएं। • मिटटी के #कर्वे पर रोली से #स्वस्तिक बनाएं। • #कर्वे में दूध, #जल और #गुलाब जल मिलाकर रखें और रात को छलनी के प्रयोग से #चंद्र दर्शन करें और #चन्द्रमा को #अर्घ्य दें। • इस दिन महिलाएं #सोलह #श्रृंगार जरूर करें, इससे #सौंदर्य बढ़ता है। • इस दिन करवा #चौथ की #कथा सुननी चाहिए। • कथा सुनने के बाद अपने घर के सभी बड़ों का #चरण स्पर्श करना चाहिए। #पति की #दीर्घायु की कामना कर पढ़ें यह मंत्र : – ‘नमस्त्यै #शिवायै शर्वाण्यै #सौभाग्यं संतति शुभा। प्रयच्छ #भक्तियुक्तानां नारीणां #हरवल्लभे।’

दक्षिणावर्ती शंख, वामावर्ती शंख, शंख बजाने का तरीका, Valampuri Shankh Puja, Puja Shankh- 9810196053

#प्राचीन काल से ही प्रत्येक घर में #पूजा-वेदी पर शंख की #स्थापना की जाती है। पवित्र #शंख को #दीपावली, #होली, #महाशिवरात्रि, #नवरात्र, #रवि-पुष्य, #गुरु-पुष्य नक्षत्र आदि शुभ #मुहूर्त में विशिष्ट #कर्मकांड के साथ स्थापित किया जाता है। #रुद्र, #गणेश, #भगवती, #विष्णु #भगवान आदि के #अभिषेक के समान शंख का भी #गंगाजल, दूध, घी, #शहद, गुड़, #पंचद्रव्य आदि से #अभिषेक किया जाता है। इसका #धूप, #दीप, #नैवेद्य से नित्य #पूजन करना चाहिए और लाल #वस्त्र के आसन में स्थापित करना चाहिए। शंखराज सबसे पहले वास्तु-दोष दूर करते हैं।अगर आपको #खांसी, #दमा, #पीलिया, #ब्लडप्रेशर या दिल से संबंधित मामूली से लेकर गंभीर बीमारी है तो इससे छुटकारा पाने का एक सरल-सा उपाय है – शंख #बजाइए और रोगों से छुटकारा पाइए।#दक्षिणावर्ती शंख बहुत पवित्र, विष्णु-प्रिय और #लक्ष्मी सहोदर माना जाता है, यदि घर में दक्षिणावर्ती शंख रहता है तो #श्री-समृद्धि सदैव बनी रहती है. इस शंख को घर पर रखने से #दुस्वप्नों से मुक्ति मिलती है. इस शंख को व्यापार स्थल पर रखने से #व्यापार में वृद्धि होती है. पारिवारिक #वातावरण शांत बनता है. #पंचमुखी शंख, #शंख का #महत्व, #शंख बजाने का #तरीका, शंख के #प्रकार, शंख कैसे बनता है, #महालक्ष्मी शंख, दक्षिणावर्ती शंख के #उपाय, #दक्षिणावर्ती शंख की #पहचान कैसे करे, दक्षिणावर्ती शंख #मंत्र, दक्षिणावर्ती शंख की #स्थापना विधि, #दक्षिणावर्ती शंख, #वामावर्ती शंख के लाभ, शंख #बजाने के नियम¸#शंख की #कीमत

हनुमान चालीसा यन्त्र धारण करने के नियम, सिद्ध हनुमान कवच धारण करने के फायदे Call- 9810196053

#सिद्ध #हनुमान #चालीसा #यन्त्र #धारण करने के #नियम, #प्राण #प्रतिष्ठित #पंचमुखी #हनुमान कवच #धारण करने के #फायदे , #Siddh #Hanuman #Chalisa #Yantra #worship by Pandit Pradeep Pandey श्री हनुमान #चालीसा #यंत्र, बल #बुद्धि और #विद्या के दाता व माँ #अंजनी के पुत्र #भगवान श्री #हनुमान जी के #आशीर्वाद को प्राप्त करने और उनके आशीर्वाद की #छाया में रहने का सबसे आसान और सरल तरीका है। कृपया #हनुमान चालीसा #यन्त्र खरीदते समय सिद्ध #प्राणप्रतिष्ठित ही खरीदे जिससे इसका #लाभ प्राप्त किया जा सके | #हनुमान #चालीसा, श्री #हनुमान #चालीसा #यंत्र, श्री #हनुमान #चालीसा #यन्त्र, #Hanuman #Chalisa #Yantra, #हनुमान चालीसा #यन्त्र, #हनुमान #चालीसा #यन्त्र #प्राइस, #Hanuman #Chalisa #Yantra

विष्णु सालिग्राम पूजा की विधि तथा लाभ, worship shaligram stone mantra by Pandit Pradeep Pandey

#शालिग्राम पर मात्र #तुलसी पत्र अर्पण करता है तो इसी से भगवान #नारायण शीघ्र प्रसन्न होते हैं। #शालिग्राम की नित्य पूजा करने से जन्म #जन्मान्तर के #पाप, #ताप, शाप #नष्ट होते हैं। #सुख, #शांति एवं #धन, #मान, #पद, #प्रतिष्ठा की वृद्धि होती है। घर-परिवार में #अशांति, #कलह एवं #पितृदोष भी समाप्त होता है। भगवान विष्णु को #शालीग्राम के रूप में पूजा जाता है। यानि #विष्णु जी को जिस विशेष #पत्थर के रूप में पूजा जाता है उसे #शालीग्राम कहते है। विशेष रूप से यह काले रंग का #चिकना पत्थर होता है जिसे भगवान #विष्णु का स्वरूप माना जाता है। #शालीग्राम के पत्थर #नेपाल में बहने वाली #गंडकी नदी में पाए जाते हैं। इस #नदी को #तुलसी का रूप भी माना जाता है। #पूजा करते समय यदि आप #शालीग्राम के ऊपर #तुलसी के पत्ते अर्पित करते हैं, तो भगवान #विष्णु जल्द प्रसन्न होते हैं। शिवलिंग और #शालिग्राम को भगवान का विग्रह रूप माना जाता है और पुराणों के अनुसार #भगवान के इस विग्रह रूप की ही पूजा की जानी चाहिए।

श्रीरामरक्षास्तोत्रम्, श्री राम रक्षा स्तोत्र, Ram Raksha Stotra by Pandit Pradeep Pandey

श्रीरामरक्षास्तोत्रम्, श्री राम रक्षा स्तोत्र, Ram Raksha Stotra by Pandit Pradeep Pandey 9871030464 #श्रीरामरक्षास्तोत्रम् , श्री #राम #रक्षा #स्तोत्र, #Ram #Raksha #Stotra ॥ विनियोग ॥ अस्य #श्रीरामरक्षास्तोत्रमन्त्रस्य#बुधकौशिक ऋषि:। #श्रीसीतारामचंद्रोदेवता। अनुष्टुप् छन्द:। #सीता शक्ति:। #श्रीमद्हनुमान् कीलकम्। #श्रीसीतारामचंद्रप्रीत्यर्थे जपे #विनियोग: ॥

साईं चालीसा, शिरडी साईं बाबा चालीसा, Shirdi Sai Chalisa by Pandit Pradeep Pandey

साईं चालीसा, शिरडी साईं बाबा चालीसा, Shirdi Sai Chalisa by Pandit Pradeep Pandey 9871030464 #साईं #चालीसा, #शिरडी #साईं #बाबा #चालीसा, #Shirdi #Sai #Chalisa #साईं #चालीसा. पहले साईं के #चरणों में, अपना शीश #नमाऊं मैं। कैसे #शिरडी साईं आए, सारा हाल #सुनाऊं मैं॥ #संत और #फकीरों में #साईं #बाबा का विशेष स्थान है।