आरती सत्यनारायण भगवान जी की, जय लक्ष्मी रमणा, Svami Jai Lakshmi Ramana by Pandit Pradeep Pandey 9871030464

#आरती #सत्यनारायण #भगवान जी की, #जय #लक्ष्मी #रमणा, #Aarti #shri #satyanarayan ji ki …… #सत्यनारायण जी को #भगवान #विष्णु का #अवतार माना जाता है। मान्यता है कि भक्तिपूर्वक #सत्यनारायणजी की #कथा और #आरती करने वाले #जातक के सभी कार्य #सिद्ध होते हैं। श्री #सत्यनारायणजी की #आरती…जय #लक्ष्मी रमणा, #स्वामी जय #लक्ष्मी रमणा. #सत्यनारायण #स्वामी, जन-पातक-हरणा |

Advertisements

काली माता की आरती, अम्बे तू है जगदम्बे काली, jai durge khappar wali song by Pandit Pradeep Pandey 9871030464

#काली #माता की #आरती #अम्बे तू है #जगदम्बे काली, जय #दुर्गे खप्पर वाली | तेरे ही गुण गायें #भारती, ओ मैया हम सब #उतारें तेरी #आरती || तेरे #भक्त जनों पे माता, भीर पड़ी है #भारी | #दानव दल पर टूट पडो माँ, करके सिंह #सवारी || सौ सौ #सिंहों से तु बलशाली, दस #भुजाओं वाली | #दुखिंयों के दुखडें निवारती, ओ #मैया हम सब #उतारें तेरी आरती || माँ #बेटे का है इस जग में, बड़ा ही #निर्मल नाता | पूत #कपूत सूने हैं पर, माता ना सुनी #कुमाता || सब पर करुणा #दरसाने वाली, अमृत #बरसाने वाली || #दुखियों के दुखडे #निवारती, ओ #मैया हम सब #उतारें तेरी आरती ||

काली चालीसा, महाकाली चालीसा पाठ, Jai Jai Sita Ram Ke Madyavasini Amba by Pandit Pradeep Pandey 9871030464

#काली #चालीसा, #महाकाली चालीसा #पाठ जय जय #सीताराम के मध्यवासिनी अम्ब। देहु दर्श #जगदम्बा अब, करो न मातु #विलम्ब।। प्रातः काल उठ जो पढ़े, #दुपहरिया या शाम। दुःख दारिद्रता दूर हों #सिद्धिहोय सब काम।। जय काली #कंकाल मालिनी। जय मंगला महा #कपालिनी।। रक्तबीज #बधकारिणि माता। सदा भक्त जन #सुखदाता।। शिरो #मालिका भूषित अंगे। जय काली जय मध्य #मतंगे।। हर हृदया रविन्द्र #सविलासिनि। जय जगदम्बा सकल# दुःख नाशिनि।। ह्रीं काली श्रीं महा #कराली। क्रीं कल्याणी #दक्षिणा काली।। जय #कलावती जय विद्यावती। जय तारा सुन्दरी #महामति।। देहु सुबुद्धि हरहु सब #संकट। होहु #भक्त के आगे परगट।। जय ऊँ कारे जय हुंकारे। महाशक्ति जय #अपरम्पारे।। कमला #कलियुग दर्प विनाशिनी। सदा भक्त जन के #भयनाशिनी।। जब #जगदम्ब न देर लगवाहु। दुःख दरिद्रता मोर #हटावहु।।

विष्णु भगवान की आरती, ॐ जय जगदीश हरे, Lord Vishnu Aarti by Pandit Pradeep Pandey 9871030464

#विष्णु #भगवान की #आरती, #ॐ #जय #जगदीश #हरे, #Lord #Vishnu #Aarti #ॐ #जय #जगदीश #हरे, #स्वामी #जय #जगदीश #हरे#भक्तजनों के #संकट क्षण में दूर करे॥ जो #ध्यावै फल पावै, #दुख बिनसे मन का। #सुख-संपत्ति घर आवै, #कष्ट मिटे तन का॥

 

आरती दुर्गा माता की, जय अम्बे गौरी मैया जय श्यामा गौरी, Nav Durga Aarti by Pandit Pradeep Pandey 9871030464

#दुर्गा #माता जी की #आरती #जय #अम्बे #गौरी, #मैया #जय #श्यामा #गौरी जय #अम्बे गौरी, मैया जय #श्यामा #गौरी I तुमको #निशदिन ध्यावत #हरी #ब्रह्मा #शिवजी II. #मांग सिन्दूर विराजत टीको #मृगमद को I #उज्जवल से दोउ नैना #चन्द्रवदन नीको II. #कनक समान कलेवर #रक्ताम्बर राजे I #रक्तपुष्प गल माला #कण्ठन पर साजे ||

आरती संतोषी माता जी की, जय संतोषी माता, Maiya Jai Santoshi Mata Aarti by Pandit Pradeep Pandey 9871030464

#आरती #संतोषी #माता जी की , Jai #Santoshi #Mata Ki #Aarti #जय #सन्तोषी माता, #मैया जय सन्तोषी #माता। अपने सेवक जन की #सुख सम्पति दाता ।। जय #सन्तोषी माता…. सुन्दर चीर सुनहरी #मां धारण कीन्हो। #हीरा पन्ना दमके तन श्रृंगार लीन्हो ।। जय #सन्तोषी माता

 

आरती सत्यनारायण भगवान जी की, जय लक्ष्मी रमणा, Svami Jai Lakshmi Ramana by Pandit Pradeep Pandey 9871030464

#आरती #सत्यनारायण #भगवान जी की, #जय #लक्ष्मी #रमणा, #Aarti #shri #satyanarayan ji ki …… #सत्यनारायण जी को #भगवान #विष्णु का #अवतार माना जाता है। मान्यता है कि भक्तिपूर्वक #सत्यनारायणजी की #कथा और #आरती करने वाले #जातक के सभी कार्य #सिद्ध होते हैं। श्री #सत्यनारायणजी की #आरती…जय #लक्ष्मी रमणा, #स्वामी जय #लक्ष्मी रमणा. #सत्यनारायण #स्वामी, जन-पातक-हरणा |